आप फिर भूल गए

0

कई नवयुवक मानसिक रोगी होते हैं

वास्तव में उन्हें बीमारी नही होती है चालाक और बाजारी हकीम इनकी कमजोरी से लाभ उठाकर इनके सन्देह को बढाते हैं और स्वस्थ पुरुष को रोगी बना देते हैं। ऐसे नवयुवक अपनी अज्ञानता के कारण कभी कभी आत्महत्या कर लेते हैं। क्योकि वे समझते हैं अबउनका जीवन अब व्यथ हो….

आगे पढ़ें

Share.

About Author

Leave A Reply