खाएंगे कूल फूड तो रहेंगे कूल-कूल

0

महिलाएं होममेकर हों या कामकाजी हैं, गर्मी में दोनों को हाइड्रेशन मेंटेन करना बहुत जरूरी है यानी पानी खूब पीयें। ठंडे पदार्थ जैसे जौ, काला चना, चावल आदि को अपने भोजन में शामिल करें। इनमें पोषक तत्व भी भरपूर होते हैं। गर्म पदार्थ जैसे कि मांसाहारी भोजन, अंडे, गरम मसाला, तली हुई पूडिय़ां वगैरह एवॉयड करें। नॉनवेज के शौकीन सप्ताह में एकाध बार ही खाएं। तेज गर्मी में आपकी कुछ कोशिशें आपको कूल रखने में कामयाब रहेंगी।

सुबह नाश्ते में छांछ या ठंडा दूध ले सकती हैं। स्वाद के लिए दूध में इलायची पाउडर मिलाया जा सकता है। खाली पेट मौसमी फल का भी सेवन कर सकती हैं। दो घंटे बाद एक कटोरी दलिया या एक प्लेट पोहा खाएं।

लंच में यदि गेहूं की रोटी खाती हैं तो उसमें थोड़ा चने का आटा भी मिक्स करें। यह न सिर्फ ठंडा होता है, बल्कि पोषक तत्वों से भी भरपूर होता है। यही नहीं चना न केवल वजन घटाता है, बल्कि शुगर भी कम करता है।

ऑफिस जाने वाली महिलाएं अपने साथ नींबू पानी, छांछ, नारियल पानी आदि अवश्य रखें। दो-दो घंटे के अंतराल पर उनका सेवन करें। पहले गर्मी के मौसम में गुलाबरस शर्बत, ठंडाई आदि ली जाती थी। आज भी इनका महत्व कम नहीं हुआ है। इन्हें घर में तैयार कर या फिर बाजार में उपलब्ध ऐसे शर्बतों का प्रयोग किया जा सकता है। खाली पेट रहने से बचें।

जो महिलाएं ऑफिस जाने के क्रम में अधिक यात्रा करती हैं, वे अपने पास मूंगफली आदि का पैकेट जरूर रखें, क्योंकि खाली पेट रहने पर लू या डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। पानी की बॉटल तो जरूर रखें। सनग्लासेज और बिना पावर के चश्मे से आंखों का बचाव करें। धूप में सिर को कवर करके चलें।

मौसमी फलों जैसे कि तरबूज खरबूज आदि का सेवन दिन में एक बार जरूर करें। खीरा, ककड़ी, प्याज आदि को भी भोजन में शामिल करें, ताकि जरूरी पोषक तत्वों की पूर्ति हो सके। नेचुरल फ्रूट्स में शुगर की मात्रा भी बेहद कम होती है। रात में फल खाने से नुकसान तो नहीं है, लेकिन फायदा भी नहीं है। इसलिए दिन में ही इसे खाएं।

Share.

About Author

Leave A Reply