मर्दाना ताकत बढ़ाने के उपाय – घरेलू नुस्खे

0

समाज में व्यवहारिकता में परफेक्ट होने के साथ ही बिस्तर पर अपनी साथी को संतुष्ट करना भी हर पुरुष की प्राथमिक जिम्मेदारी होती है। पर कई बार कुछ अंदरूनी या बाहरी कारणों से मर्दानगी में कमी हो जाती है जो उन पुरुषों के लिए चिंता का विषय बन जाता है। कई बार पुरुषों में पाई जाने वाली शारीरिक कमजोरियां अस्वस्थ संबंधों का कारण बन जाती हैं। कुछ शारीरिक कमजोरियां जैसे स्वप्न दोष, शीघ्र पतन व कमजोरी आदि ऐसी समस्याएं हैं, जो मन पर नियंत्रण न होने के कारण होती हैं।

एक व्यक्ति का पौरुष और उसका द्रव उसकी मर्दाना ताकत को दर्शाता है। इसे हम यूं समझें, एक औरत के अन्दर अंडकोष होता है जब की एक मर्द के अन्दर शुक्राणु होते हैं। जब शारीरिक संबंध के दौरान एक पुरुष, स्त्री मेल करते है तो पुरुष के गुप्तांग से निकला द्रव स्त्री के शरीर में जाकर उसके अंडकोष के अण्डों के साथ चिपक जाता है जिसे फर्टिलाइजेशन का नाम दिया जाता है। एक पुरुष का द्रव जितना स्वस्थ होता है, उस पुरुष के बाप बनने की उतनी ज्यादा संभावना होती है और एक पुरुष के शुक्राणु जब स्वस्थ नहीं होते तो उसके बाप बनने की संभावना बिल्कुल ना के बराबर होती है।

आम तौर पर देखा जाए तो बाजार में मर्दानगी बढ़ाने के उपाय और कई तरह के इलाज उपलब्ध हैं, लेकिन यह फायदा करें ना करें यह बात की बात है, यह अपना साइड इफेक्ट जरूर छोड़ जाते हैं, लेकिन यहां जो आपको घरेलू नुस्खे बताए जा रहे हैं जिन से, किसी भी तरह का साइड इफेक्ट होने का खतरा बिल्कुल भी नहीं है।

किसी व्यक्ति के जीवन में यौन समस्याएं उसके यौन जीवन में शुरुआत में विकसित हो सकती हैं या असुखद व असंतोषजनक यौन अनुभव होने के बाद भी हो सकती हैं। यौन समस्याओं के कारण शारीरिक, मानसिक, या दोनों हो सकते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं मर्दाना ताक़त बढ़ाने के नेचुरल नुस्खे। जो आपके लिए जरूर हेल्पफुल साबित होंगे। 

1. चना

अगर वीर्य पतला है या कम बनता है तो चना आपकी मदद कर सकता है। एक चीनी के बर्तन में रात में चने भिगोकर रख दें और फिर इन चनों को सुबह उठकर अच्छी तरह से चबा चबाकर खाएं। चने आपको अपनी पाचन शक्ति के अनुसार ही खाने हैं मतलब कि जितना आप से हो सके और उसके बाद आप जिस चीनी के बर्तन में आप ने चने भिगोये थे उस पानी को भी ऊपर से पी लें। इस तरह आप अपनी मर्दाना ताक़त में इज़ाफ़ा कर सकते हैं।

2. लहसुन

रोज रात को सोने से पहले लहसुन की दो कलियां निगल लें। फिर थोड़ा-सा पानी पिएं।

3. आंवला

आंवले के चूर्ण में मिश्री पीसकर मिलाएं। इसके बाद प्रतिदिन रात को सोने से पहले करीब एक चम्मच इस मिश्रित चूर्ण का सेवन करें। इसके बाद थोड़ा-सा पानी पिएं।

4. केला

केला पुरुष की शक्ति को बढ़ाने वाला फल है। प्रतिदिन केले खाएं और संभव हो तो केला खाने के बाद दूध भी पिएं।

5. अजवाइन

अजवाइन की पत्तियां स्वप्नदोष की समस्या के लिए एक बेहतरीन दवा है। अजवाइन की पत्तियों का जूस निकालकर उसे शहद के साथ लें। अजवाइन का रस इस तरह से लेने से बहुत जल्दी लाभ होता है।

6. प्याज

प्याज के सफेद कंद का रस, शहद, अदरक का रस और घी का मिश्रण 21 दिनों तक लगातार लेने से नपुंसकता दूर होकर पौरुष शक्ति प्राप्त होती है। कच्चे प्याज का सेवन स्वप्नदोष की समस्या में बहुत अच्छा माना गया है। खाने में किसी भी रूप में प्याज का सेवन किया जाए तो इस समस्या में लाभ पहुंचता है। साथ ही, अगर इसे कच्चा खाया जाए तो बेहतर परिणाम मिलते हैं।

7. मेथी

मेथी को इस समस्या की बहुत कारगर दवा माना गया है। दो चम्मच मेथी के जूस में आधा चम्मच शहद मिलाकर रोजाना रात को लेने से इस समस्या में बहुत जल्दी आराम मिलता है।

8. उड़द

अगर आपकी पाचन क्रिया अच्छी हैं तो उड़द आपके लिए रामबाण हैं। उड़द के लड्डू, उड़द की दाल, दूध में बनाई हुई उड़द की खीर का सेवन करने से वीर्य की बढ़ोतरी होती है और संभोग शक्ति बढ़ती है।

9. तालमखाना

तालमखाना ज्यादातर धान के खेतों में पाया जाता है इसे लेटिन भाषा में एस्टरकैन्था-लोंगिफोलिया कहते हैं। वीर्य के पतले होने पर, शीघ्रपतन रोग में, स्वप्नदोष होने पर, शुक्राणुओं की कमी होने पर रोजाना सुबह और शाम लगभग 3-3 ग्राम तालमखाना के बीज दूध के साथ लेने से लाभ होता है। इससे वीर्य गाढ़ा हो जाता है।

10. तिल का तेल 

तिल का तेल भी इस समस्या में रामबाण की तरह काम करता है। तिल के तेल को जितनी मात्रा में लें, उतनी ही मात्रा में लौकी का जूस भी लें। रात को सोने से पहले इस तेल के मिश्रण से अपने सिर और बॉडी पर मसाज करें। यह एक बहुत प्रभावी नुस्खा है, जो बिना किसी खास खर्च के आपको इस समस्या से पूरी तरह राहत देगा।

11. बादाम 

वैसे तो बादाम हर तरह से फायदेमंद होता है पर शायद आप नहीं जानते होंगे की बादाम मर्दानगी बढ़ाने के लिए भी कारगर नुस्खा है।

12. स्वस्थ सोच 

स्वस्थ सोच से ही शरीर स्वस्थ रहता है। यह एक सच्चाई है। इन समस्याओं के लिए हमारे मन की भावनाएं भी काफी हद तक जिम्मेदार होती हैं। मन में भोग-विलास के वासनात्मक ख्याल रहना या मन में हमेशा काम-वासना के विचार घुमड़ते रहना स्वप्नदोष व शीघ्रपतन जैसी समस्याओं का एक बड़ा कारण है।

13. सही आदत 

हमारी आदतें भी स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव डालती है। यही कारण है कि कई बार सिर्फ गलत आहार-विहार यानी गलत समय पर गलत चीजें गलत तरीके से गलत मात्रा में लेने और अप्राकृतिक तरीके से अपनी दिनचर्या रखने से समस्याएं पैदा होती हैं। इन सभी कारणों से न सिर्फ स्वास्थ्य पर, बल्कि विवाहित जीवन पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। साथ ही, जरूरत से ज्यादा  भोजन करना भी पुरुषों में शारीरिक कमजोरी की एक अहम वजह बन सकती है।

14. स्वस्थ आहार 

बहुत अधिक गरिष्ठ भोजन, जैसे पिज्जा, बर्गर जैसे फास्ट फूड भी इसका एक बड़ा कारण हैं। अधिक घी-दूध, मेवे-मिठाई आदि का सेवन करना भी आयुर्वेद की दृष्टि से अच्छा नहीं माना गया है।

Share.

About Author

Leave A Reply