प्राकृतिक और सुरक्षित रूप से अपनी याददाश्त बढ़ाएं

0

रोजमर्रा की जिंदगी में तकनीक के बढ़ते दखल ने हमें बेहदआरामतलब बना दिया है। मोबाइल फोन, इंटरनेट से जिंदगीआसान तो हुई है लेकिन इसके नुकसान भी हैं। कोई सूचना यारहस्य यदि एक क्लिक की दूरी पर हो, तो कोई क्यों अपने दिमाग को कष्ट देना चाहेगा। लेकिन ये सुविधाएँ और ये आदतें विशेष रूप से मस्तिष्क की याद रखनेकी क्षमता पर घातक असर डाल रही हैं। और मनुष्य इन सुविधाओं का आदि बन कर अपने को नुकसान पहुंचा रहा है

याददाश्त बढ़ाएं

३५ वर्ष की आयु के पश्चात याद रखने की क्षमता कमजोर होने लगती है। क्योंकि आज का मनुष्य आलसी हो गया है और सुबह देर से उठाना रात को देर से सोना, रोजाना सुबह उठ कर व्यायाम न करना आदि बुरी आदत उसके अन्दर पैदा हो गयी हैं जो शारीरिक रूप से मनुष्य पर बुरा प्रभाव डालती है और जिससे मनुष्य की स्मृति कमज़ोर हो जाती है और व्यक्ति आपने द्वारा राखी हुई वस्तुएं तक भूल जाता है अक्सर महिलाओं को घर में राखी वस्तुओं का ठीक से याद न आना भी स्मृति शक्ति के कमज़ोर होने का लक्षण है

\

साथ ही इसके अलावा आजकल बच्चों में भी यह परेशानी पर देखने को मिल रही है कि उन्हें काफी कुछ याद नहीं रहता वे जल्द ही पढ़ाई संबंधी बातें भूल जाते हैं। जिससे की वो परीक्षों में असफल हो जाते है और उनका भविष्य बर्बाद होने लगता है कुछ बच्चे परीक्षा में निरंतर असफल होने के कारण अपनी आत्म-हत्या तक कर लेते है तथा उनके माता पिता हमेशा यह सोचते है की शायद उनके बच्चे मेहनत नहीं करते परन्तु ऐसा नही होता बल्कि वह मेहनत करते हैं उनकी स्मृति क्षमता कमज़ोर होने के कारण वो याद किया हुआ भूल जाते हैं

स्मृति नुकसान के कारण

३५ वर्ष की आयु से अधिक होना क्योंकि ३५ वर्ष की आयु के पश्चात याद रखने की क्षमता कमजोर होने लगती है। स्मृति नुकसान के कारणों में शामिल हैं

  • तकनीकी वस्तुओं के अधिक प्रयोग से
  • बढ़ती उम्र के साथ ज्यादा सोने से
  • सुबह देर से उठाना
  • गलत आदतें पड़ जाने से
  • देर से उठना
  • अत्यधिक सहवास करना
  • देर रात तक काम करना
  • किसी भी प्रकार का नशा
  • तंबाकू का सेवन
  • रोजाना सुबह उठ कर व्यायाम न करना
  • दिन में सोना आदि से याददाश्त कमजोर हो जाती है आदि

ब्रनोल एक्स कैप्सूल

प्राकृतिक रूप से अपनी याददाश्त बढ़ाएं

ब्रनोल एक्स एक हर्बल कैप्सूल है जो आपको बुद्धिमान बनाने में उपयोगी होता है यह विभिन्न मस्तिष्क कार्यों में सुधार करता है. स्मृति शक्ति को मजबूत बनाने और याददाश्त में सुधार करने में यह आपकी मदद करता है ब्रनोल एक्स हर्बल कैप्सूल चयनित जड़ी बूटियों के साथ तैयार किया गया है और इसके द्वारा तनाव का इलाज किया जाता है. यह आपको और अधिक स्पष्ट रूप से आराम पहुँचाने, तनाव को कम करने में आपकी मदद करता हैं और रोजमर्रा की जिंदगी में चुस्त रखता हैं. मन की शांति और सम्पुर्ण विश्वास को बढ़ावा देता है. तथा इसके प्रयोग से आपकी मानसिक शक्ति इतनी बढ़ जाती है की आप किसी भी लेख को एक बार पढने के पश्चात् सदैव याद रख सकते है

ब्रनोल एक्स” एक हर्बल कैप्सूल” है जोकि घबराहट को कम करता है उसकी प्रभावशीलता के लिए कहा जाता है. की यह एक लोगो के अटूट विश्वास का प्रतीक तथा इसमें कोई शक नहीं है की यह सबसे उत्कृष्ट प्राकृतिक मानसिक प्रदर्शन में वृद्धि करता है और मस्तिष्क के कौशल बढ़ाने के लिए आपकी मदद करता है

ब्रनोल एक्स हर्बल कैप्सूल के लाभ

  • शारीरिक फिटनेस को बनाए रखने के लिए
  • हृदय, मस्तिष्क और तंत्रिकाओं को पुनः सशक्त के लिए
  • ताज़ा और आरामदायक दिल और दिमाग के लिए
  • मन की शांति और सम्पुर्ण विश्वास को बढ़ावा देता है
  • तनाव, बेचैनी, और बुढ़ापा को दूर करता है
  • मेमोरी और मानसिक स्पष्टता को दूर करता है
  • मस्तिष्क की कोशिकाओं में संश्लेषण गतिविधि में सुधार करता है
  • मानसिक और शारीरिक काम के बाद थकान आलस्य को दूर करता है
  • बुद्धि, चेतना, और मानसिक तीक्ष्णता में सुधार करता है
  • स्मृति की धारणा शक्ति और एकाग्रता की कमी को दूर करता है
  • बेहतर मानसिक सतर्कता के लिए बहुत उपयोगी है

इसके अतिरिक्त गुण

  • 100% प्राकृतिक सक्रिय पोषक तत्वों द्वारा निर्मित है
  • मानसिक क्षमता को बढ़ाने के लिए
  • एक उत्कृष्ट मस्तिष्क टॉनिक
  • याद रखने की क्षमता में सुधार
  • बिना किसी साइड इफेक्ट के
  • तनाव को दूर करता है
  • भारत में फ्री डिलीवरी
  • आपके विश्वास को बढ़ता है
  • केवल आवश्यक खुराक के साथ सरल उपाय

इसके अतिरिक्त अवश्य ध्यान दे

1. रोज व्यायाम करें : नियमित व्यायाम से मस्तिष्क को ज्यादा आक्सीजन मिलती है जिससेयाददाश्त कम होने का खतरा भी घट जाता है। साथ ही कुछ ऐसे रासायन स्रावित होते हैं जोदिमाग की कोशिकाओं को नष्ट होने से बचाएंगे।

2. तनाव से बचें : तनाव दिमाग को एकाग्रचित नहीं होने देता। ज्यादा तनाव से हार्मोनकोर्टिसाल दिमाग के हिप्पोकैंपस को गंभीर नुकसान पहुंचाता है।

3. पूरी नींद लें : अच्छी नींद लेने से दिमाग तरोताजा रहता है। नींद पूरी नहीं हो पाने से दिनभरथकावट रहती है और किसी काम में ध्यान केंद्रित करना मुश्किल हो जाता है।

4. धूम्रपान न करें : सिगरेट पीने से मस्तिष्क तक आक्सीजन पहुंचाने वाली धमनियां सिकुड़नेलगती है जिससे दिमाग कमजोर होने लगता है।

आर्डर करने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

byu-now

नोट :- अगर सेक्स या स्वास्थ्य से संबंधित आपकी कोई भी समस्या या सवाल है तो उसे आप हमें हिंदी या अंग्रेजी में ईमेल या फ़ोन कर सकते हैं। ईमेल :- info@hashmi.com, फ़ोन नंबर :- +91- 9690666166

Share.

About Author

Leave A Reply