मासिक धर्म की समस्या व इसका सफल इलाज

7

मासिक धर्म, मासिक धर्म, लेडी केअर कैप्सूल, हर्बल गोलियाँ, योनि स्राव, विरोधी प्रदर, सफेद निर्वहन हर्बल चिकित्सा, प्रदर हर्बल दवा, प्रदर हर्बल उपचार, सफेद स्राव, स्राव उपचार, ल्यूकोरिया

10 से 15 साल की आयु की लड़की के अंडाशय हर महीने एक विकसित डिम्ब (अण्डा) उत्पन्न करना शुरू कर देते हैं। वह अण्डा अण्डवाहिका नली (फैलोपियन ट्यूव) के द्वारा नीचे जाता है जो कि अंडाशय को गर्भाशय से जोड़ती है। जब अण्डा गर्भाशय में पहुंचता है, उसका अस्तर रक्त और तरल पदार्थ से गाढ़ा हो जाता है। ऐसा इसलिए होता है कि यदि अण्डा उर्वरित हो जाए, तो वह बढ़ सके और शिशु के जन्म के लिए उसके स्तर में विकसित हो सके। यदि उस डिम्ब का पुरूष के शुक्राणु से सम्मिलन न हो तो वह स्राव बन जाता है जो कि योनि से निष्कासित हो जाता है। इसी स्राव को मासिक धर्म, रजोधर्म या माहवारी (Menstural Cycle or MC) कहते हैं।

ऑस्ट्रेलिया में हुए शोध के मुताबिक जिन लड़कियों के भाई उनसे उम्र में बड़े होते हैं, उनका मासिक धर्म देर से शुरू होता है। एक और शोध के मुताबिक टीवी देखना और कृत्रिम रोशनी में ज़्यादा वक्त गुजारने से भी मासिक धर्म जल्द शुरू होने की समस्या हो सकती है। एक अन्य थिअरी के मुताबिक मासिक धर्म जल्द होने की वजह मां से कमजोर भावनात्मक रिश्ता भी है। हालांकि, इंग्लैंड के डॉक्टर हाइंडमार्श का मानना है कि इन अवधारणाओं के पीछे ठोस मेडिकल तर्क नहीं है। कम उम्र मंक ही मासिक धर्म शुरू होने की वजह से लड़कियां अपनी हम उम्र लड़कियों की तुलना में काफी लंबी जाती हैं। लेकन जानकारों के मुताबिक जब वे बड़ी होती हैं तो उनका कद अपनी हम उम्र लड़कियों की तुलना में छोटा रहता है

लड़कियों में 12 साल से पहले मासिक धर्म शुरू होने की समस्या को ‘प्रेकोसस प्यूबर्टी’ कहते हैं। हैदराबाद में प्रैक्टिस कर रहे कई डॉक्टरों का मानना है कि पिछले कुछ सालों में प्रेकोसस प्यूबर्टी की समस्या बढ़ी है। इसके चलते इस बीमारी की रोकथाम के लिए लिए इलाज कराने वालों की तादाद भी बढ़ी है।मासिक धर्म की गड़बड़ी स्त्री के लिए किसी मानसिक परेशानी से कम नहीं। इसके अलग-अलग कारणों से अधिकतम स्त्रियां त्रस्त एवं परेशान रहती है।

माहवारी चक्र की सामान्य अवधि क्या है?

माहवारी चक्र महीने में एक बार होता है, सामान्यतः 28 से 32 दिनों में एक बार। हालांकि अधिकतर मासिक धर्म का समय तीन से पांच दिन रहता है परन्तु दो से सात दिन तक की अवधि को सामान्य माना जाता है।

माहवारी सम्बन्धी समस्याएं

ज्यादातर महिलाएं माहवारी (Menstrual cycle) की समस्याओं से परेशान रहती है लेकिन अज्ञानतावश या फिर शर्म या झिझक के कारण लगातार इस समस्या से जूझती रहती है. यहां समस्या बताने से पहले यह भी बता दें कि माहवारी है क्या. दरअसल दस से पन्द्रह साल की लड़की के अण्डाशय हर महीने एक परिपक्व अण्डा या अण्डाणु पैदा करने लगता है। वह अण्डा डिम्बवाही थैली (फेलोपियन ट्यूब) में संचरण करता है जो कि अण्डाशय को गर्भाशय से जोड़ती है। जब अण्डा गर्भाशय में पहुंचता है तो रक्त एवं तरल पदाथॅ से मिलकर उसका अस्तर गाढ़ा होने लगता है। यह तभी होता है जब कि अण्डा उपजाऊ हो, वह बढ़ता है, अस्तर के अन्दर विकसित होकर बच्चा बन जाता है। गाढ़ा अस्तर उतर जाता है और वह माहवारी का रूधिर स्राव बन जाता है, जो कि योनि द्वारा शरीर से बाहर निकल जाता है। जिस दौरान रूधिर स्राव होता रहता है उसे माहवारी अवधि/पीरियड कहते हैं। औरत के प्रजनन अंगों में होने वाले बदलावों के आवर्तन चक्र को माहवारी चक्र कहते हैं। यह हॉरमोन तन्त्र के नियन्त्रण में रहता है एवं प्रजनन के लिए जरूरी है। माहवारी चक्र की गिनती रूधिर स्राव के पहले दिन से की जाती है क्योंकि रजोधर्म प्रारम्भ का हॉरमोन चक्र से घनिष्ट तालमेल रहता है। माहवारी का रूधिर स्राव हर महीने में एक बार 28 से 32 दिनों के अन्तराल पर होता है। परन्तु महिलाओं को यह याद करना चाहिए कि माहवारी चक्र के किसी भी समय गर्भ होने की सम्भावना है।

माहवारी से पहले की स्थिति के क्या लक्षण हैं?

माहवारी होने से पहले (पीएमएस) के लक्षणों का नाता माहवारी चक्र से ही होता है। सामान्यतः ये लक्षण माहवारी शुरू होने के 5 से 11 दिन पहले शुरू हो जाते हैं। माहवारी शुरू हो जाने पर सामान्यतः लक्षण बन्द हो जाते हैं या फिर कुछ समय बाद बन्द हो जाते हैं। इन लक्षणों में सिर दर्द, पैरों में सूजन, पीठ दर्द, पेट में मरोड़, स्तनों का ढीलापन अथवा फूल जाने की अनुभूति होती है।

भारी माहवारी के स्राव के क्या कारण हैं?

lady problem

भारी माहवारी स्राव के कारणों में शामिल है :–

  • गर्भाषय के अस्तर में कुछ निकल आना।
  • जिसे अपक्रियात्मक गर्भाषय रक्त स्राव कहा जाता है। जिस की व्याख्या नहीं हो पाई है।
  • थायराइड ग्रन्थि की समस्याएं
  • रक्त के थक्के बनने का रोग
  • अंतरा गर्भाषय उपकरण
  • दबाव।

सामान्य पांच दिन की अपेक्षा अगर माहवारी रक्त स्राव दो या चार दिन के लिए चले तो चिन्ता का कोई कारण होता है? नहीं, चिन्ता की कोई जरूरत नहीं। समय के साथ पीरियड का स्वरूप बदलता है, एक चक्र से दूसरे चक्र में भी बदल जाता है।

लेडी केअर कैप्सूल

मासिक धर्म, मासिक धर्म, लेडी केअर कैप्सूल, हर्बल गोलियाँ, योनि स्राव, विरोधी प्रदर, सफेद निर्वहन हर्बल चिकित्सा, प्रदर हर्बल दवा, प्रदर हर्बल उपचार, सफेद स्राव, स्राव उपचार, ल्यूकोरिया

लेडी केअर कैप्सूल हर्बल गोलियाँ हैं जोकि असामान्य मासिक धर्म की समस्या से छुटकारा पाने का सबसे अच्छा तरीका है . यह उस सिद्धांत पर आधारित है जोकि पुरानी यूनानी प्रणाली में हजारों साल पहले योनि से असामान्य रक्तस्राव को रोकने के लिए स्वीकार किया गया था तथा यह योनि की समस्याओं व योनी के असामान्य रक्तस्राव से पूरी तरह राहत के लिए के लिए प्रभावी और शक्तिशाली दवा है जोकि आपको स्थायी इलाज प्रदान करती है . लेडी केअर कैप्सूल उन सभी समस्याओं का उपचार भी प्रदान करते हैं जो आप सेक्स के समय सहन करती हैं . यहां महत्वपूर्ण यह है कि यह दवा हर्बल होने के कारण किसी भी प्रकार का कोई सहप्रभाव नही छोडती है और आपको एक पूर्ण उपचार स्वाभाविक रूप से प्रदान करती है

लेडी केअर कैप्सूल पहला और एकमात्र चिकित्सकीय द्वारा परीक्षण किया हुआ योनि कायाकल्प कैप्सूल है. यह जड़ी बूटियों से तैयार है जोकि प्रयोग किये जाने के पश्चात् किसी प्रकार का सहप्रभाव नही छोड़ता तथा यह योनि की आंतरिक दीवारों को मजबूती प्रदान करता है महिला और उसके साथी के लिए यौन सुख को बढाता है. सभी उम्र की महिलाओं को बुढ़ापे या प्रसव के प्राकृतिक परिणाम के कारण मासिक धर्म की समस्या का सुरक्षित समाधान पर्याप्त करने में आपकी मदद करता है महिलाओं में योनि से सफ़ेद पानी या पीला पानी हर समय या कभी कभी निकलना तथा असामान्य रूप से खून बहना आदि समस्याओं में यह चमत्कारिक रूप में आपकी मदद करता है.

लेडी केअर कैप्सूल आपको साफ और तरो ताजा महसूस करता है!

लेडी केअर कैप्सूल योनि की प्राकृतिक सुरक्षा बढ़ाने के लिए उपयोग होता है

ग्रीवा से उत्पन्न श्लेष्मा (म्युकस) के बहाव को ठीक करता है। अगर स्राव का रंग, गन्ध या गाढ़ापन असामान्य हो अथवा मात्रा बहुत अधिक हो जाती है तो इस समस्या को शीघ्र ही ठीक करता है । योनिक स्राव (Vaginal discharge) सामान्य प्रक्रिया है जो कि मासिक चक्र के अनुरूप परिवर्तित होती रहती है. दरअसल यह स्राव योनि को स्वच्छ तथा स्निग्ध रखने की प्राकृतिक प्रक्रिया है वहीं अण्डोत्सर्ग के दौरान यह स्राव इसलिये बढ़ जाता है ताकि अण्डाणु आसानी से तैर सके. अण्डोत्सर्ग के पहले काफी मात्रा में श्लेष्मा (mucus) बनता है. यह सफेद रंग का चिपचिपा पदार्थ होता है. लेकिन यदि किन्ही परिस्थितियों में जब इसका रंग बदल जाता है तथा इससे बुरी गंध आने लगती है तो यह रोग का रूप ले लेता है. लेडी केअर कैप्सूल शरीर में होने वाले रासायनिक परिवर्तन को ठीक करता है जिससे योनी स्राव का रंग व गन्ध का सरलता से उपचार हो जाता है

विशेष सुझाव

कम उम्र में मासिक धर्म शुरू होने की समस्या तेजी से लड़कियों में आम होती जा रही है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए लड़कियां ग्रोथ हारमोन इंजेक्शन ले रही हैं। इंजेक्शन लगवाने वाली लड़कियां जल्द आए मासिक धर्म से कुछ दिनों के लिए टालना चाहती हैं। ऐसी लड़कियां भी इस इंजेक्शन को लगवा रही हैं जो मासिक धर्म को कुछ सालों के लिए रोकना चाहती हैं। आपको यह बता देना बहुत ज़रूरी है की इंजेक्शन लगवाना आपके स्वस्थ के लिए बहुत अधिक खतरनाक हो सकता है तथा तथा इससे इस्त्रियों में गर्भ धारण की शमता कम हो जाती है इससे इस्त्रि बाँझ भी हो सकती है इससे आपको को तेज दर्द हो सकता है जो आता और जाता रहेगा या मन्द चुभने वाला दर्द हो सकता है। इन से पीठ में दर्द हो सकता है। यदि स्व-उपचार से लगातार तीन महीने में दर्द ठीक न हो या रक्त के बड़े-बड़े थक्के निकलते हों तो तुरंत हमसे परामर्श लेना चाहिए। यदि माहवारी होने के पांच से अधिक दिन पहले से दर्द होने लगे और माहवारी के बाद भी होती रहे तब भी अवश्य ही दवा लेनी चाहिए


सवाल और जवाब

अनियमित माहवारी पीरियड क्या होता है?

अनियमित माहवारी पीरियड वह होता है जिसमें अवधि एक चक्र से दूसरे चक्र तक लम्बी हो सकती है, या वे बहुत जल्दी-जल्दी होने लगते हैं या असामान्य रूप से लम्बी अवधि से बिल्कुल बिखर जाते हैं। किशोरावस्था के पहले कुछ वर्षों में अनियमित पीरियड़ होना क्या सामान्य बात है?हां, शुरू में पीरियड अनियमित ही होते हैं। हो सकता है कि लड़की को दो महीने में एक बार हो या एक महीने में दो बार हो जाए, समय के साथ-साथ वे नियमित होते जाते हैं।

पीड़ा दायक माहवारी क्या होती है?

पीड़ा दायक माहवारी मे निचले उदर में ऐंठनभरी पीड़ा होती है। किसी औरत को तेज दर्द हो सकता है जो आता और जाता है या मन्द चुभने वाला दर्द हो सकता है। इन से पीठ में दर्द हो सकता है। दर्द कई दिन पहले भी शुरू हो सकता है और माहवारी के एकदम पहले भी हो सकता है। माहवारी का रक्त स्राव कम होते ही सामान्यतः यह खत्म हो जाता है।

माहवारी का अभाव क्या होता है?

यदि 16 वर्ष की आयु तक माहवारी न हो तो उसे माहवासी अभाव कहते हैं। कारण है :-

  • औरत के जनन तंत्र में जन्म से होने वाला विकास
  • योनि (योनिच्छद) के प्रवेशद्वारा की झिल्ली में रास्ते की कमी
  • मस्तिष्क की ग्रन्थियों में रोग।

लेडी केअर कैप्सूल का प्रयोग किस प्रकार करना चाहिए ?

लेडी केअर कैप्सूल खाली पेट नहीं लिया जाना चाहिए. एक दिन में दो बार कैप्सूल दूध के साथ लेना चाहिए.

क्यों यह प्रतिस्पर्धी उत्पादों से बेहतर है?

सभी प्राकृतिक उपचार रोगों से लड़ने में प्रकिर्तिक रूप से मदद करते है इसमें किसी भी रोग का उपचार धीरे धीरे प्रारम्भ होता है और कुछ ही समय में पूरी तरह से समाप्त भी हो जाता है जबकि अन्य उत्पाद तुरन्त फायदा पहुंचा सकते हैं परन्तु अन्य सभी उत्पादों के बहुत अधिक दुष्प्रभाव सामने आते हैं तथा अभी तक हमारे किसी भी उत्पाद का कोई भी दुष्प्रभाव सामने नही आया है अतः हमारे सभी उत्पाद अन्य उत्पादों से बहुत अधिक बेहतर हैं

क्या पैकेज विचारशील है?

हाँ, सभी आदेश विचारशील पैकेजिंग में भेजे जाते है.

क्या इस दवाई का कोई सह-प्रभाव भी है ?

नहीं, इस दवा के हर्बल होने के कारण अब तक कोई दुष्प्रभाव सामने नहीं आया है. लेडी केअर कैप्सूल100% जड़ी बूटीयों पर आधारित है तथा यह प्रयोग करने के लियें बहुत अधिक सुरक्षित है

लेडी केअर कैप्सूल में कौन सा रसायन प्रयोग किया जाता हैं?

यह एक हर्बल उत्पाद है जिसमे किसी भी प्रकार का कोई रसायन प्रयोग नही किया जाता है इसमें केवल उपयोगी एवं कीमती जड़ी बूटियों का प्रयोग किया जाता है जोकि विश्व के विभिन्न भागों से लायी जाती हैं

मेरा आर्डर देने के कितने दिन के बाद मुझे यह प्राप्त हो जाएगा?

आप आर्डर देने के 5 -7 दिनों के पश्चात् ही अपना पार्सल प्राप्त कर सकते है. ज्यादातर अंतरराष्ट्रीय आदेश 1-2 सप्ताह के भीतर ही प्राप्त हो जाते हैं. हमें आपके देश में नियंत्रण नहीं है, इसलिए आर्डर प्राप्त करने में कुछ अतिरिक्त समय भी लग सकता है.

आर्डर करने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

byu-now

नोट :- अगर सेक्स या स्वास्थ्य से संबंधित आपकी कोई भी समस्या या सवाल है तो उसे आप हमें हिंदी या अंग्रेजी में ईमेल या फ़ोन कर सकते हैं। ईमेल :- info@hashmi.com, फ़ोन नंबर :- +91- 9690666166

Share.

About Author

7 Comments

    • Niyamit period ke liye hamare pass ek herbal lady care capsule hai. Jo apke period ko har nahine niyamit rakhega. Aap hemein is number par contact karein 9058577992 ya phir hamein email karein info@hashmi.com. Ham apko apke address par course bhjwa denge.

    • Dear Ramesh Kisku , Agar Periods time pr nhi hua ha to aapko check krana chahye , Iski wajah Insecure Sex bhi ho skti ha.

  1. Mere ek friend n period k last 7 ve din ko apni gf k sath sex kiya tha.. Isse wo pregnant Ho sakti he kya.. .
    Or agar Ho bhi gyi he to iska koi ilaaj he.. .

    • Period ke last 15 din main pregnant hone ke chance ziyada hote hein. Agar apne apni girl friend ke sath sex kiya hai to pregnant ho bhi sakti hain ya phir nahi. Agar unka period 5 din ke uper ho jaye tab aap pregnancy kit laye aur test kar le. Aur agar pregnant hein to doctor ke pass jaye.

    • Hasthmaithun se chutkara pane ke liye apko ye habit dhere dhere chodni padegi. Adhik jankari ke liye aap apna mobile no dijiye ham apko call kar ke apki puri problem detail main sunege

Leave A Reply