मर्दाना कमजोरी के लिए प्रभावी हर्बल उपचार

0

सेक्स समस्याओं का समाधान करके अब तक लाखो लोगों को फायदा पहुंचाया है एक दिन विचार आया कि हजारों लोगों की परेशानियों को अपने मन में दबा कर दुनिया से विदा हो जाने के बजाय, इस दुनिया को सच्चाई से रूबरू करवाकर बताया जाये कि हमारा दाम्पत्य जीवन किस दौर से गुजर रहा है। लेकिन दंपतियों के नाम, स्थान, आयु आदि के बारे में किसी भी प्रकार की जानकारी को प्रकट करना अनैतिक, गैर-कानूनी और अविश्वासपूर्ण है, इसलिए मैं इसे प्रकट नही कर पाया । हालांकि, कुछ दंपतियों ने उनके नाम सहित उनकी जानकारी प्रकाशित करने के लिए सहमति प्रदान की है, जिससे यह बात भी मजबूत होकर उभर रही है कि अब हमारे शहरों पर अमरीका एवं यूरोप का प्रभाव कितनी तेजी से बढ रहा है?

लिंग वर्धक,लिंग, लंड, लम्बा लिंग,छोटा लिंग, लिंग वृद्धि, प्राकृतिक लिंग वृद्धि, सिकंदर-ए-आज़म प्लस, लिंग वृद्धि दवा, लिंग इज़ाफ़ा, यौन सुख

अक्सर मुझसे वे लोग मिलते हैं, जिनका विवाह हो चुका होता है और कई महीनों के बाद भी उनकी पटरी नहीं बैठ पाती है। कुछ युवक-युवती विवाह पूर्व भी सलाह लेने आते रहते हैं, जिन्हें विवाह पूर्व के यौन-सम्बन्धों को लेकर अपने भावी दाम्पत्य जीवन को लेकर अनेक प्रकार की शंकाएं होती हैं। विवाहित जोडों की समस्याओं में भी अधिकतर मामलों में विवाह पूर्व के यौन-सम्बन्ध या विवाहेत्तर यौन सम्बन्ध ही समस्या का असली कारण होते हैं।

प्रथम आलेख में एक घटना का उल्लेख कर रहा हूं। एक नवविवाहिता (जिसके विवाह को 20-25 दिन ही हुए थे), जिसे हम यहां काल्पनिक तौर पर मीनाक्षी नाम दे सकते हैं, अपने पति के साथ सिरदर्द का उपचार करवाने के बहाने मेरे पास आयी और धीरे से कहा, ‘क्या मैं आपसे अकेले में कुछ कह सकती हूं।’ मैंने उनके पति को समझाया के वे बाहर के कमरे में बैठकर कर पत्रिकाएं पढें, तब तक मैं उनकी पत्नी की तकलीफ सुन लेता हूं।

मीनाक्षी ने घुमा-फिरकार जो कुछ बताया, उसका निष्कर्ष यह था कि उसकी उम्र 23 वर्ष है, उसकी शादी को कुछ ही समय हुआ लेकिन अपने पति से वह तनिक भी सन्तुष्ट नहीं है। उसने सीधा सवाल किया कि क्या इस समस्या का कोई समाधान सम्भव है या उसे तलाक लेना पडेगा? मैंने उसे समझाते हुए कहा कि चिन्ता मत करो, दवाइयों से सब ठीक हो जायेगा। अपने आपको निराशा के भंवर से बाहर निकालो।

मीनाक्षी को तीन दिन बाद आने को कहा और उसके पति सुभाष (परिवर्तित नाम) को अन्दर बुलाकर अगले दिन अकेले में आने का कहा। सुभाष दूसरे दिन आकर मिला। उतावलेपन में खुद-ब-खुद ही कहने लगा, ‘मेरी पत्नी ने क्या आपसे मेरे बारे में कुछ बताया है? डॉक्टर साहब बताईये मैं क्या करूं? मुझे लगता है कि मेरी पत्नी मुझसे बिलकुल भी सन्तुष्ट नहीं है! ’ मैंने उससे पूछा, ‘तुमको ऐसा क्यों लगता है? ’ उसने बताया, ‘मैं अपनी पत्नी से हर रात जब भी सेक्स करने की कोशिश करता हूँ तब मै असमर्थ हो जाता हूँ और कुछ नही कर पता तब वह रोने लगती है या जोर से गुस्सा हो जाती है।’

सुभाष ने बिना कुछ पूछे ही मुझे बहुत कुछ बतला दिया। सुभाष ने आगे बताया कि पहली रात को वह घबराहट एवं भय के कारण बहुत प्रयास करने के बाद भी सम्भोग नहीं कर पाया। उसे इतनी घबराहट हो गयी कि उत्तेजना ही नहीं हुई। पहली रात को उसके अनुसार उसकी पत्नी का व्यवहार अच्छा था, लेकिन सारी रात कुछ नहीं कर पाने के कारण सुबह बिस्तर छोडते समय ही मीनाक्षी ने सुभाष को व्यंगात्मक लहजे में कहा, ‘मुझसे शादी किसलिए की है? ’ बस इसके बाद तो सुभाष की मनोस्थिति अत्यन्त खराब हो गयी। वह शर्म के मारे मरा जा रहा था, उसने बताया कि पत्नी की बात सुनकर एक बार तो उसके मन में खुदकुशी का विचार भी आया था।

सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल
सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल स्वाभाविक रूप से लिंग का आकार बढ़ता है और पुरुष लिंग के प्रदर्शन को बढ़ाने मैं काम आता है

सुभाष ने बताया कि उसने अपने आपको जैसे-तैसे संभाला और साहस करके अपनी पत्नी को समझाया कि आज उसकी तबियत ठीक नहीं है। शान्त रहो, आगे भी बहुत सारी रात आयेंगी। इस पर उसकी पत्नी ने उसे उलाहना दिया कि सुहागरात तो दुबारा नहीं आने वाली! यह कहते-कहते सुभाष मेरे सामने रो दिया था। सुभाष ने आगे बताया कि जैसे-तैसे अगली रात को उसने अर्द्ध-उत्तेजना में अपनी पत्नी से सम्भोग का प्रयास किया, तो कुछ ही क्षणों में वीर्यपात हो गया। इस पर उसकी पत्नी गुस्सा हो गयी और रोने गली। साहस करके कुछ समय बाद दुबारा सम्भोग करने का प्रयास किया, तो इन्द्रिय में उत्तेजना तो पूर्ण थी, लेकिन मीनाक्षी ने सहयोग ही नहीं दिया और बिना योनि में इन्द्रिय को डाले ही वीर्यपात हो गया।

लिंग वर्धक,लिंग, लंड, लम्बा लिंग,छोटा लिंग, लिंग वृद्धि, प्राकृतिक लिंग वृद्धि, सिकंदर-ए-आज़म प्लस, लिंग वृद्धि दवा, लिंग इज़ाफ़ा, यौन सुख

मैंने उससे पूछा कि विवाह पूर्व क्या स्थिति थी? पहले तो वह झेंपा, लेकिन कुछ ही देर में खुलकर बताने लगा, ‘मैं 16-17 वर्ष का था, तब से लगातार हस्तमैथुन करता आ रहा हूं। बहुत प्रयास करने के बाद भी मुझे विवाह से पूर्व कोई लडकी नहीं मिली। इस कारण मैं हीन भावना का भी शिकार हो गया था। लेकिन, खूबसूरत पत्नी पाकर मैं खुश था कि मेरा विवाहित जीवन आगे खुश रहने वाला है। परन्तु, दर्भाग्य से सब बेकार हो गया! वो तो अब मुझसे हमेशा दूर भागती है। रात को घरवालों के कारण मजबूरी में मेरे साथ आती है। शादी के बाद जो रोमांस की कल्पना थी, वैसा कुछ भी नहीं है। मैं क्या करूं, जिससे मेरी पत्नी मेरे साथ खुशी-खुशी यौन-सम्बन्ध स्थापित कर सके।’

मैंने सुभाष को भी तीन दिन बाद अकेले आने को कहकर और सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल देकर विश्वास दिलाया कि उसे कोई बीमारी नहीं है और वह पूरी तरह से स्वस्थ है। उसे केवल अपने आत्मविश्वास को बनाये रखने की जरूरत है।अगले दिन सुभाष खुश था। वो बोला, ‘साहब आपने तो चमत्कार कर दिया। जब से मैंने सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल खाया है तब से मेरे लिंग में बहुत अधिक उत्तेजना आने लगी है और स्खलन पर भी नियंत्रण है मेरी पत्नी भी बदल गयी है, मुझे भी सम्भोग में आनन्द आ रहा है। लेकिन, अभी भी पूर्ण सुधार बाकी है।’ उसने बताया कि उसकी असल समस्या यह है कि उसकी पत्नी की योनि ढीली-ढाली है, जिसके कारण उसे घर्षण में उतना भी आनन्द नहीं आता, जितना कि हस्तमैथुन में आता था।

मैंने सुभाष को बताया कि तुम्हारी समस्या की असली जड़ यही सोच है। तुम अपनी हथेली के मनमाफिक दबाव के साथ अपनी इन्द्रिय को उत्तेजित करके यौनसुख प्राप्त करने के आदि हो चुके थे, जबकि योनि का अन्दर का भाग बहुत ही नाजुक और लचीला तथा हथैली की तुलना में बेहद कोमल होता है, जो तुमको ढीलाढाला अनुभव होता है। प्रकृति की अनुपम सौगात योनि की कोमलता को तुम समझ ही नहीं पा रहे हो और अप्राकृतिक हस्तमैथुन को सच्चा यौनानन्द समझ बैठे थे। जब तक इस मानसिकता को नहीं बदलोगे, न तुम सुखी रहोगे और न अपनी पत्नी को सुखी रख सकोगे। तुमको हस्तमैथुन के बारे में सब कुछ भुलाकर पत्नी संसर्ग को ही सच्चा सुख मानना होगा। इसके अलावा, मैंने उसे विश्वास दिलाया कि उसकी पत्नी को कुछ ऐसी दवाई दी हैं, जिनसे उसकी योनि में कुछ कसावट आयेगी। मैंने उसको सलाह दी कि वो गलती से भी आगे कभी हस्तमैथुन नहीं करे। और सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल का प्रयोग कुछ समय तक और करे शीघ्र ही उसे सेक्स की सारी समस्याओ का समाधान मिल जायेगा और उसकी खोई हुई मर्दाना ताकत उसे वापस प्राप्त हो जायेगी

सेक्स रुचि में कमी के कुछ प्रमुख कारण

  • नशीले पदार्थो से पहले तो यौन शक्ति में वृद्धि होती है, धीरे-धीरे इनका असर कम होता जाता है और शीघ्रपतन, मर्दाना कमजोरी, शुक्राणु की कमी आदि रोग हो जाते हैं।
  • तीखे, खट्टे, गर्म और नमकीन पदार्थों का ज्यादा सेवन करने से पित्त कुपित होकर वीर्य का क्षय करता है, जिससे नपुंसकता पैदा होती है।
  • मधुमेह का शरीर के प्रत्येक अंग पर घातक प्रभाव पड़ता है। मधुमेह से गंभीर रूप से पीडित व्यक्ति के लिंग में तनाव उत्पन्न ही नहीं होता।
  • भयंकर रोग के कारण या शिश्न में हुई किसी व्याधि के कारण अथवा किसी चोट के कारण वीर्यवाहिनी नस के कट जाने से
  • अत्यधिक मैथुन करने से। हस्तमैथुन से शरीर के सभी अंग दुर्बल हो जाते हैं, नेत्रों की ज्योति कम जो जाती है, भूख कम हो जाती है। आंतो की क्रिया धीमी हो जाती है तथा रक्त संचार की कमी हो जाने से लिंग में उत्तेजना नहीं आ पाती।
  • 60 वर्ष की आयु के बाद भी काम में अरूचि या ह्रास की स्थिति उत्पन्न हो जाती है।
  • 13 प्रोस्टेट ग्रंथि वृद्धि की प्रारम्भिक अवस्था में पुरूष में संभोग की बाढ़ सी आ जाती है लेकिन जब यह ग्रन्थि और कुछ बड़ी होती है, तो काम शक्ति लुप्त हो जाती है।

सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल

लिंग वर्धक,लिंग, लंड, लम्बा लिंग,छोटा लिंग, लिंग वृद्धि, प्राकृतिक लिंग वृद्धि, सिकंदर-ए-आज़म प्लस, लिंग वृद्धि दवा, लिंग इज़ाफ़ा, यौन सुख, छोटा लिंग

यह शिकायत होना आजकल आम बात हो गई है। गलत आचार-विचार इसका प्रमुख कारण है। इस समस्या को दूर करने के लिए सिकंदर आजम प्लस कैप्सूल बहुत अधिक प्रभावशाली है यह एक हर्बल कैप्सूल है जो लिंग आकार और कामेच्छा बढ़ाता है. यह अनूठा लिंग वृद्धि कैप्सूल समय से पहले थकना या पतन हो जाना आदि समस्याओं को भी दूर करता है. यदि आप जब प्यार करने से शर्मिंदा हो रहे हैं, वहाँ केवल एक ही विकल्प है यानी सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल

यह प्राकृतिक रूप से लिंग की वृधि के लिए भी काम करता है। दैनिक रूप से एक कैप्सूल, नयी उमंग नया जोश पैदा करता है साथ ही पुरुषों में नपुंसकता की सारी समस्याओं को दूर करता है. सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल, सिर्फ एक दिन में एक बार सेवन करने से यह लिंग में रक्त प्रवाह को तीर्व कर देता है और कार्पस केवेरनोसम नामक उतक में रक्त इकट्टा होकर लिंग का आकर बढ़ा देता है. सिकंदर आजम प्लस हर्बल कैप्सूल फार्मूले की मदद से आप पहले से कहीं ज्यादा बेहतर सेक्स करने में सफल होंगे. अब तक दुनिया भर के लाखों पुरुषों को प्राकृतिक रूप से लाभ पहुंचा चूका है. शक्ति में वृद्धि और पुरुषों में सहनशक्ति सहनशीलता में मदद करता है. कई पुरुषों और महिलाओं के बीच एक प्रमुख चिंता का विषय उम्र की होती है चोटी प्रदर्शन को बनाए रखने की क्षमता बहुत आवश्यक है. उचित पोषण फिट हालत में रहने की कुंजी होती है. कुपोषण के कारण शरीर में कुछ अंगो की कार्य क्षमता ख़राब हो जाती है तब हमारे शरीर को कुछ आवश्यक तत्वों की अव्शयाकता होती है

यह प्राकृतिक रूप से लिंग की वृधि के लिए भी काम करता है दैनिक रूप से एक कैप्सूल, नयी उमंग नया जोश पैदा करता है साथ ही पुरुषों में नपुंसकता की सारी समस्याओं को दूर करता है. सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल, सिर्फ एक बार एक दिन में सेवन करने से यह लिंग में रक्त प्रवाह को तीर्व कर देता है और कार्पस केवेरनोसम नामक उतक में रक्त इकट्टा होकर लिंग का आकर बढ़ा देता है. सिकंदर-ए-आज़म प्लस हर्बल कैप्सूल फार्मूले की मदद से आप पहले से कहीं ज्यादा बेहतर सेक्स करने में सफल होंगे. अब तक दुनिया भर के लाखों पुरुषों को प्राकृतिक रूप से लाभ पहुंचा चूका है.

सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल एक हर्बल दवा है जो सेक्स की अपक्षयी जटिलताओं और यौन प्रदर्शन तथा सहनशक्ति में वृद्धि करता है तथा सेक्स करते समय आ रही सभी समस्याओं से मुक्ति दिलाने में आपकी मदद करता है. सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल सुरक्षित और प्रभावी है यह कामेच्छा बढ़ाता है. यह एक अनूठा कैप्सूलहै जो समय से पहले थकना या शीघ्र पतन हो जाना आदि समस्याओं को भी दूर करता है. सिकंदर आजम प्लस कैप्सूल एक 100% हर्बल जड़ी बूटी युक्त एक कैप्सूल के रूप में दवाई है जोकि सेक्स करते समय व्यक्ति के शरीर में होने वाली कमजोरी, लिंग में तनाव की कमी, शरीर में दर्द, आदि शिकायतों से राहत प्रदान करने में मदद करता है

सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल के लाभ

  • यौन प्रदर्शन और सहनशक्ति में वृद्धि
  • लंबाई में 3 + इंच तक लाभ
  • ऊपर से 20% द्वारा अपने लिंग चौड़ाई (परिधि) बढ़ाएँ
  • शीघ्रपतन बंद करने में मदद करे !
  • बिना कोई दुष्प्रभाव के साथ १०० % सुरक्षित
  • अधिक से अधिक यौन आत्मविश्वास और नियंत्रण का एहसास
  • चिकित्सक स्वीकृत और अनुशंसित
  • ग्रेटर सेक्स ड्राइव
  • बहुत आसान शिपिंग और बिलिंग
  • बिना पंप्स, बिना कोई सर्जरी, न ही व्यायाम
  • अधिक रोमांचक यौन जीवन का आनंद

 

सवाल और जवाब

सिकंदर-ए-आज़म प्लस हर्बल कैप्सूल कितनी प्रभावशाली होता है?

शारीरिक अथवा मानसिक कारणों से लिंग के खड़े न हो पाने के रोग में सिकंदर आजम प्लस का उपयोग किया जाता है। जिन पुरूषों को हृदय तंत्री का रोग, मौल्लिटस मधुमेह, उच्च रक्त चाप, अवसाद हृदय की बाईपास सर्जरी हो चुकी हो और जो पुरूष अवसाद मुक्ति या रक्त चाप से मुक्ति देने वाली दवाएं लेते हैं उन में लिंग को खड़ा करने के लिए इसे प्रभावशाली माना जाता है। चिकित्सा प्रयोगों में, देखा गया है कि मधुमेह वाले 60 प्रतिशत और बिना मधुमेह वाले 80 प्रतिशत लोगों को सिकंदर आजम से लिंग के खड़े होने में बेहतर मदद मिलती है।

सिकंदर-ए-आज़म प्लस कितनी मात्रा में लेनी चाहिए?

सिकंदर आजम प्लस देते समय डॉक्टर रोगी की उम्र स्वास्थ्य की सामान्य स्थिति और जो दवाएं वह ले रहा हो उन सब का ध्यान रखता है। प्रारम्भ करने की अधिकतर पुरूषों में एक कैप्सूल होता है, पर सह प्रभावों एवं प्रभविषुणता को देखते हुए डॉक्टर मात्रा को बढ़ा या घटा सकता है।

सिकंदर-ए-आज़म प्लस किस प्रकार दिया जाना चाहिए?

सिकंदर-ए-आज़म प्लस कैप्सूल के रूप में उपलब्ध है। सम्भोग परक गतिविधि के प्रारम्भ के एक घन्टा पहले इसे लेना चाहिए। श्रेष्ठ परिणाम के लिए इसे खाली पेट लेना चाहिए क्योंकि खाने के बाद, यदि गरिष्ठ भोजन किया हो तो इसका प्रभाव और स्राव घट जाता है।

सिकंदर-ए-आज़म प्लस के सह प्रभाव क्या होते हैं?

बिना विशेष सह प्रभावों के सिकंदर-ए-आज़म प्लस अधिकतर लोगों को लाभ पहुंचता है। इस दवा के हर्बल होने के कारण अब तक कोई सह प्रभाव सामने नहीं आया है

विशेष

जिस तरह विधुत के सही इस्तेमाल से आप रौशनी पाते हैं व् ग़लत से दुर्घटना वैसे ही हस्थमैथुन के विषय में सही जानकारी हो तो आप किशोरावस्था में आने वाले तूफानों का भी आनंद ले सकेंगे और तनाव मुक्त रह सकेंगे लेकिन जानकारी ग़लत हो तो भटकाव निश्चित है।यदि आपको किसी प्रकार की सेक्स समस्या है तो हमें बताये हम उसका निवारण अवश्य ही बतायेगे सेक्स सम्बन्धी विशेषज्ञ इसे एकदम स्वाभाविक व्यवहार (normal behavior) मानते हैं। वीर्य का स्खलित होना स्वाभाविक होता है। मैथुन से न सही तो स्वप्न दोष से होगा। किसी भी रूप में हो अपराधबोध निराधार है।

फूटपाथ पर बिकने वाले सस्ते साहित्य से बचे। फिल्मे देखकर किसी कास्सिनोवा (Casanova) या सुपरमैन (Superman) की भ्रान्ति न पाले। यदि किसी तरह की लिंग व् सेक्स सम्बन्धी शंका या समस्या है तो सीधे किसी विशेषज्ञ से मिले। यदि किसी तरह का डर, ग्लानी, या विवाह के पश्चात आने वाली किसी समस्या का डर है तो तुंरत हमसे संपर्क करे।

“अति सर्वत्र वर्जयेत” – अति हर हालत में हानिकारक है। कहीं ऐसा तो नही की आप हर वक्त, दिन रात किसी दिवास्वप्न (fantasy) में जीते हैं और हस्थमैथुन आपके दिलो-दिमाग पर छाया रहता है। यदि है तो उससे बाहर आए। हर काम का वक़्त होता है। किशोरावस्था में बहुत कुछ और भी है जहाँ आप अपना मन लगा सकते हैं। पढ़ाई , खेल, फिल्मे, दोस्त, परिवार, कला इत्यादि।

आर्डर करने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

byu-now

नोट :- अगर सेक्स या स्वास्थ्य से संबंधित आपकी कोई भी समस्या या सवाल है तो उसे आप हमें हिंदी या अंग्रेजी में ईमेल या फ़ोन कर सकते हैं। ईमेल :- info@hashmi.com, फ़ोन नंबर :- +91- 9690666166

Share.

About Author

Leave A Reply