जींस पहनने का शौक रखते है तो हो जाए सावधान

0

स्किनी जींस और हुडिस पहनते हैं तो सावधान है. जी हां, स्किनी टाइट जींस पहनने से बैक पेन बढ़ सकता है. ब्रिटिश काइरप्रैक्टिक एसोसिएशन (BCA) के मुता‍बिक, फैशन च्वॉइस आपकी हेल्थ पर सीरियस इंपेक्ट डाल सकती है !

BCA के काइरप्रैक्टर टिम हचफूल का कहना है कि हैवी हुड्स से नैक पर स्ट्रेन पड़ता है. वहीं स्किनी जींस मोमेंट्स को रिस्ट्रिक्ट करती है!

BCA ने चेतावनी भी दी है कि हाई हील्स, बैकलेस शूज पहनने से भी 1,062 में से 73% को बैक पेन की शिकायत थी!

वन थर्ड या‍नि 28% ये बात जानते हैं कि कपड़ों का कमर दर्द, नैक पेन और पोस्चर से सीधा ताल्लुक है, जबकि 33% इस बात से अंजान है!

टिम हचफूल का कहना है कि मुझे इस बात से हैरानी होती है कि मेरे अधिकत्तर मरीजों को ये बात पता ही नहीं होती कि उनके कपड़े और एक्सेसरीज का उनकी बैक हेल्थ और पोस्चर पर इफेक्ट पड़ता है! साथ ही बहुत ही कम लोग हैं जो दर्द को ध्यान में रखकर अपनी आउटफिट को चूज करते हैं!

कुछ ऐसे पर्टिकुलर कपड़ें हैं जिनका हेल्थ पर हिडन इफेक्ट पड़ता है. ओवलोडेड और हैवी हैंडबैग्स हेल्थ के लिए बहुत नुकसानदायक है! ठीक ऐसे ही स्किनी जींस, इससे हिप्स, नी की मोमेंट्स ठीक से नहीं हो पाती! हैवी ज्वैलरी, ओवरसाइज स्लिीव्स, हुड भी इसी लिस्ट में आते हैं जो हेल्थ के लिए ठीक नहीं हैं!

टिम हचफूल कहते हैं कि जो भी कपड़े आपके मोमेंट को रोकते हैं या फिर आपको चलने, खड़े होने, या बैठने से रोकते हैं. उसका आपकी हेल्थ और पोस्टर पर नेगेटिव इफेक्ट पड़ता है. इतना ही नहीं, ये नैक और बैक पेन का कारण भी बनता है. ज्वॉइंट पेन का भी ये मुख्य कारण है!

लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि आप फैशन ना करें या फिर अपनी पसंदीदा चीजें ना पहनें. बेशक, आप इनका इस्तेमाल करें लेकिन रोजमर्रा में नहीं!

Share.

About Author

Leave A Reply